Ganesh ji ki aarti pdf: गणेश जी की आरती लिखित pdf

ganesh aarti pdf

विध्नहर्ता भगवान् गणेश देवों के देव महादेव एवं माता पार्वती के छोटे पुत्र हैं, विध्नहर्ता गणेश की पत्नियों के नाम रिद्धि एवं सिद्धि हैं। रिद्धि एवं सिद्धि भगवान् विश्वकर्मा जी की पुत्रियां हैं। हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले सर्वप्रथम भगवान् गणेश का नाम अवश्य लिया जाता है। वेदों के अनुसार, गणपति भगवान की पूजा करने से बल, बुद्धिएवं ज्ञान में वृद्धि होती है। भगवान् गणेश की पूजा एवं आरती करने से किसी भी कार्य में आ रही बाधा दूर होती है। भगवान् गणेश जी की पूजा एवं आरती करने से किसी भी कार्य … Read more

error: Thank for Visit PDFYojana.com !!